NREGAGovt. of India
Ministry of Rural Development
Department of Rural Development
National Rural Employment Guarantee Act (NREGA)Friday, April 26, 2019
Back
REGISTER VI- COMPLAINT REGISTER
State:उत्तरप्रदेश District:LALITPUR

S.No.
Complainent Category
Complaint Date
Complaint Description
Complaint Against
No. of Ecsalation
Escalation Detail
Action Taken
Action Taken Date
Block : JAKHAURA
Panchayat : Bansi
1Citizen22/10/2016खण्ड विकास अधिकारी की मिली भगत से “मनरेगा में भ्रष्टाचार” सेवा में, माननीय प्रधानमंत्री महोदय, भारत सरकार ,नई दिल्ली । विषय :- उपयुक्त श्रम रोजगार द्वारा दिये “वसूली” के आदेश के इतर खण्ड विकास अधिकरी द्वारा हजारों रुपये लेकर “कमियाँ” दूर करने का आदेश जारी कर खानापूर्ति किये जाने के खिलाफ कार्यवाही बावत । महोदय, उत्तर प्रदेश के जनपद ललितपुर अन्तर्गत ब्लॉक जखौरा के ग्राम बाँसी में व्यापक स्तर पर व्याप्त भ्रष्टाचार की जाँच जनपद के मुख्य विकास अधिकारी द्वारा करायी गयी । 23/05/2016 में श्रीमान सी.डी.ओ. द्वारा दो सदस्यीय जाँच समिति बनाकर तीन दिन के अंदर संयुक्त रूप से जांच करने का आदेश किया गया था । (आदेश की प्रति संलग्नक-1) 01/06/2016 में श्रीमान सी.डी.ओ. द्वारा पुनः जाँच समिति को 05/06/2016 तक रिपोर्ट प्रेषित करने के आदेश सहित निर्धारित समय पर जाँच रिपोर्ट प्राप्त न होने पर जाँच समिति के खिलाफ कठोर कार्यवाही का आदेश दिया गया था । (आदेश की प्रति संलग्नक-2) 04/06/2016 में जाँच समिति द्वारा मौके पर पहुँचकर जाँच की गयी थी जिसमें प्रत्येक जगह अनियमिततायें पायीं गयीं थीं । जाँच रिपोर्ट के बिंदु निम्नांकित हैं - 1. तालाब के अन्दर गड्ढे के निर्माण कार्य में 12.50 प्रतिशत सेटलमेंट को नहीं घटाया गया इस प्रकार प्रथम दृष्टया अनियमित भुगतान किया गया न ही मौके पर साईन बोर्ड लगाया गया था । 2. चैनू पुत्र भुज्जा के खेत में कूप निर्माण में प्राकलन लागत 3.97 लाख रुपया दर्शायी गयी जबकि लाभार्थी द्वारा 30 फीट कुआँ पहले से खुदा बताया गया इस प्रकार पूर्व से खुदे कुआँ को पुनः निर्माण दिखाकर 1.50 लाख रुपये श्रमांश का निकाला गया है । 3. मोहन पुत्र हरदास के कूप निर्माण में कार्यस्थल पर साईन बोर्ड नहीं लगाया गया था । मजदूरी के सम्बंध में भी श्रमिकों द्वारा सही जबाव नहीं दिया गया था । 4. अशोक पुत्र गोपी के कूप निर्माण में व्यय की गयी धनराशि कराये गये कार्य से बहुत कम पायी गयी एवं मौके पर व्यय के सापेक्ष कार्य अधिक पाया गया इस कूप के निर्माण हेतु प्रस्तुत प्राकलन के अनुसार कार्य की कुल लागत 4.37 लाख रुपये दर्शायी गयी है जबकि जाँच के दिन तक महज 57 हजार 768 रुपये का श्रमांश व्यय किया गया था जबकि कूप खुदाई का कार्य पूर्ण हो गया था , मौके पर 15 फीट ऊँचाई में एवं 17 फीट आन्तरिक व्यास व 2.50 फीट बाहरी व्यास में सीमेंट खण्डे की चिनाई का कार्य हो चुका था । जिससे साफ जाहिर है कि पूर्व में खुदे हुये कूप को पुनः कूप निर्माण दर्शाकर लाखों रुपयों का गोलमाल करने की योजना है एवं मौके पर साईन बोर्ड भी नहीं लगा था । 5. हल्लू एवं राजेश के खेत पर भूमि सुधार कार्य में व्यय की गयी धनराशि से अधिक की समपत्ति उक्त परियोजना से प्राप्त हुयी जिसे परसमपत्ति रजिस्टर में दर्ज नहीं किया गया न हीं बोल्डर खण्डों को नीलाम किया गया । (जाँच रिपोर्ट की प्रति संलग्नक-3 ) इतना ही नहीं राजेश के खेत पर जिस समयावधि में भूमि सुधार कार्य हुआ उस दौरान उनकी श्रीमति ब्लॉक प्रमुख के पद पर तैनात थी , पद पर रहते हुये ग्राम पंचायत द्वारा भूमि सुधार कार्य कराना नियम विरुद्ध है । 15/06/2016 में उपायुक्त श्रम रोजगार द्वारा जाँच रिपोर्ट के आधार पर जिला पंचायत राज अधिकारी व खण्ड विकास अधिकारी जखौरा को सम्बोधित पत्र जारी करते हुये दोषी ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव एवं तकनीकी सहायक से तीन दिन में स्पष्टीकरण प्राप्त करते हुये धनराशि वसूले जाने हेतु नाम प्रस्तुत करने का आदेश किया गया था । (आदेश की छायाप्रति संलग्नक-4) 18/06/2016 में खण्ड विकास अधिकारी जखौरा द्वारा घूस लेकर उपायुक्त श्रम रोजगार के “वसूली के आदेश” से इतर कमियाँ दूर करने का पत्र जारी किया गया । ( आदेश की प्रति संलग्नक-5) 25/07/2016 में ग्राम पंचायत सचिव द्वारा खण्ड विकास अधिकारी के आदेश के पालन में चंद लाइनों का स्पष्टीकरण प्रेषित करते हुये जाँच रिपोर्ट एवं वसूली की इतिश्री कर दी । (स्पष्टीकरण की प्रति संलग्नक-6) 10/09/2016 में भवदीय द्वारा जाँच के नाम पर की जा रही खानापूर्ति को लेकर श्रीमान मुख्य विकास अधिकारी को पंजीकृत डाक द्वारा शिकायत पत्र भेजा गया । (शिकायत पत्र की प्रति संलग्नक-7) 20/09/2016 में उपायुक्त श्रम रोजगार द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को पत्र जारी कर ग्राम बाँसी में पायी गयी अनियमितताओं पर कार्यवाही न किये जाने पर जिला अधिकारी महोदय द्वारा खेद व्यक्त किये जाने का उल्लेख करते हुये समबंधित के विरुद्ध तत्काल कार्यवाही हेतु लिखा गया था । ( आदेश की प्रति संलग्नक-8) श्रीमान जी इस प्रकार चार माह बीतने को हैं भ्रष्टाचार में लिप्त ग्राम प्रधान,अधिकारी एवं कर्मचारी के खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी है अतः शीघ्र कानूनी कार्यवाही कर मामला पंजीकृत कराये जाने की कृपा करें । अन्यथा भवदीया जनहित में दोषियों के खिलाफ कार्यवाही में लापरवाही बरतने वाले उत्तरदायी अधिकारियों को प्रतिवादी बनाते हुये न्यायालय में वाद दायर करेगी , इस पर होने वाले सम्पूर्ण हर्जा खर्जा के लिये प्रतिवादी उत्तरदायी माना जायेगा । दिनाँक – 19/10/2016 भवदीया संलग्नक – उपरोक्तानुसार एवं इस सम्बन्ध में प्रकाशित शशिप्रभा दुबे समाचारों की प्रतियाँ । क्षेत्र पंचायत सद्स्य जखैरा निवास ग्राम व पोस्ट बाँसी जिला ललितपुर,उ.प्र. मो.न. - 9450033711 प्रतिलिपि :- 1. माननीय मुख्यमंत्री महोदय उत्तर प्रदेश शासन,लखनऊ । 2. श्रीमान मंडलायुक्त महोदय, झाँसी मण्डल झाँसी। DPC0  
Designed& Developed By: NIC-DRDInformatics Centre, Krishi Bhawan, New DelhiFeedback::mailto:nicdrd[at]nic[dot]in
Untitled Page